हैदराबाद. एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को तमिल सुपरस्टार रजनीकांत पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के एक कलाकार (रजनीकांत) ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी बताया था। मैं यह पूछना चाहता हूं कि फिर इन हालातों में पांडव और कौरव कौन हैं? क्या आप देश में दूसरा महाभारत कराना चाहते हैं?’’

ओवैसी ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि भाजपा सरकार को सिर्फ कश्मीर की जमीन से प्यार है, कश्मीरियों से नहीं। वे ताकत से प्यार करते हैं, लेकिन इंसाफ से नहीं। भाजपा सिर्फ ताकत हासिल करना चाहती है। याद दिलाना चाहता हूं कि कुछ भी हमेशा के लिए नहीं रहेगा। सरकार को कश्मीर में सभी प्रतिबंध हटाना चाहिए। फोन लाइनों को क्यों चालू नहीं किया जा रहा है? अगर कश्मीर के लोग बहुत खुश हैं, तो उन्हें घरों से बाहर आने दिया जाए।”

रजनीकांत ने सरकार के फैसले को मिशन कश्मीर कहा
रजनीकांत ने 11 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से जुड़े केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन किया था। उन्होंने इसके लिए मोदी और शाह को बधाई देते हुए कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी भी कहा था। रजनीकांत ने कश्मीर पर सरकार के फैसले को मिशन कश्मीर कहा। उन्होंने संसद में अमित शाह के भाषण की तारीफ की और कहा कि अब लोग जानेंगे कि शाह कौन हैं।

5 अगस्त को हटाया गया था अनुच्छेद 370
गृह मंत्री अमित शाह ने 5 अगस्त को राज्यसभा में अनुच्छेद 370 खत्म करने का प्रस्ताव रखा था। इसके कुछ देर बाद ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अधिसूचना जारी कर दी। जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा खत्म कर दिया गया है। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे। जम्मू-कश्मीर में विधानसभा होगी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें